Sovereign Colours 

  
गणतंत्र का प्रण रहे

स्वावलंबन का गर्व रहे

एकता का बल रहे

एेसे सदैव भारत अमर रहे । 

सहिष्णुता का भाव रहे

द्वेष का आभाव रहे

संस्कृतियों का संगम रहे

विचारों में उद्यम रहे । 

खेत खलिहानों में लह लहान रहे

उद्योगों में धन धान रहे

हस्त कला का सम्मान रहे

पाक परम्परा का उत्थान रहे ।  

स्त्री-पुरूष, जन-जाति

धर्म-सम्प्रदाय में ना कोई भेद रहे

संविधान की गरिमा बनी रहे

भावी युग पर उज्ज्वल लालिमा चढ़ी रहे ।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s